लॉकडाउन क्या है, यह कब और क्यों किया जाता है?

0
888

क्या होता है लॉक डाउन? किसी देश और राज्य में किसी स्थिति, होता है लागू,

लॉकडाउन क्या है, यह कब और क्यों किया जाता है? लॉक डाउन में आप कहा जा सकते हैं और लॉक डाउन में क्या बंद मिले गा और क्या खुला मिले गा | कुछ मेरे मित्र सोच रहे हैं कि अब घर मे क्या करेंगे कोई काम नही है।उनको मैं कुछ जरूरी काम याद दिलवाता हूँ। आज आप घर पर ऐसे काम कर सकते है जो काफी दिनों से घर पर टाइम नहीं मिलने से नहीं हो सके . हम आप को कुछ काम याद दिला देते है शायद आप भूल गया होगा |

लॉकडाउन

लॉकडाउन क्या है

लॉकडाउन एक आपदा व्यवस्था है जो किसी आपदा या एपिडेमिक स्थिति के वक्त सरकारी तौर पर लागू की जाती है । लॉक डाउन में उस क्षेत्र के लोगों को घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होती है । उन्हे सिर्फ दवा और अनाज जैसी जरूरी चीजों के लिए ही बाहर आने की इजाजत मिलती है । इस दौरान वे बैंक से पैसे निकालने भी जा सकते हैं । कुछ राज्यों के इतिहास में पहली बार लॉक डाउन हुआ है । दुनिया में सबसे पहला लॉक डाउन अमेरिका में 9/ 11 हमले के बाद किया गया था । यह एक एमरजेंसी व्यवस्था है ।

सीधे शब्दों में लॉकडाउन’ का अर्थ है तालाबंदी. जिस तरह किसी संस्थान या फैक्ट्री को बंद किया जाता है और वहां तालाबंदी हो जाती है उसी तरह लॉक डाउन का अर्थ है कि आप अनावश्यक कार्य के लिए सड़कों पर ना निकलें। किसी तरह की परेशानी हो तो लोग संबंधित पुलिस थाने,जिला कलेक्टर,पुलिस अधीक्षक अथवा अन्य उच्च अधिकारी को फोन कर सकते हैं । लॉकडाउन एक ऐसा आपातकालीन प्रोटोकॉल है जिसके तहत शहर या प्रदेश में रहने वाले लोगों को क्षेत्र छोड़कर जाने या घर से बाहर निकलने पर पूरी तरह से रोक लगाता है | लगभग सभी राज्यों में लॉक डाउन हो चूका है कुछ राज्यों में कर्फ्यू भी लगाया गया है | भारत में कोरोना की स्थिति को ध्यान में रखते हुए सबसे पहला लॉकडाउन महाराष्ट्र में किया गया है.

क्यों करते हैं लॉकडाउन?

किसी तरह के खतरे से इंसान और किसी इलाके को बचाने के लिए लॉकडाउन किया जाता है। जैसे कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर कई राज्यों और देशों में किया गया है। कोरोनावायरस का संक्रमण एक-दूसरे इंसान में न हो इसके लिए जरूरी है कि लोग घरों से बाहर कम निकले। बाहर निकलने की स्थिति में संक्रमण का खतरा बढ़ जाएगा। इसलिए कुछ राज्यों में लॉकडाउन जैसी स्थिति हो गई है।

लॉकडाउन में क्या खुला रहता है

दूध, फल, मीट, आटा सब्जियां सब खुलेगा (सिर्फ सुबह का टाइम पूरा दिन नहीं )
केवल आपाताकालीन सेवाएं ही चलेगी (मेडिकल, फायर बिग्रेड,एम्बुलेंस सर्विस )
पानी, सीवरेज, बैंक एटीएम, खुलेंगे
मीडिया पर किसी तरह का कोई प्रतिबंध नही होगा
डाक सेवाएं खुली रहेगी, आवश्यक ट्रांसपोर्ट खुलेंगे
किसान के सामान को लाने जाने ववालो पर कोई प्रतिबंध नही अख़बार आइएगा
कोरोना रिलीफ फंड खुला रहे गा

लॉकडाउन में क्या खुला नहीं रहे गा

कोई प्राइवेट वाहन नही चलेगा
बिना आपाताकालीन सेवाएं नहीं चलेगी
बाजार नहीं खुलगे हवाई जहाज , रेल गाड़ी, सरकारी बस नहीं चलेगी आप घर से बाहर नहीं निकल सकते

लॉकडाउन में घर पर क्या करे

  • इन्वर्टर की बैटरी का पानी चेक करें ,कम है तो नहर का पानी ही ड़ालें या बरसात का पानी।टर्मिनल पर गर्म पानी डालकर साफ करें ,ग्रीस या सरसों का तेल लगाएं।
  • कुछ नल टूटी जो लीक हैं या गन्दे हो चुके हैं उनको ठीक करें।
  • कुछ बिजली की चीजें जो आप खुद ठीक कर सकते हैं।करें।
  • छत की पानी की टँकी साफ करें और सोलर पैनल भी साफ करें।
  • कुछ खिड़की दरवाजे जो सेट नही है ,उनको खुद देखें।
  • अपनी कार या बाइक की अच्छे से सफाई करें।
  • कुछ सब्जियों के लिए भूमि  तैयार करें।
  • पत्नी की मदद करवाएं।
  • घर की अन्य बेकार चीज़ो को इक्कट्ठा करें जो प्रयोग में नही आती।बेचने के लिए।
  • बच्चों के साथ खेलें।
  • अपनी पसंद का खाना आज आप खुद बनाकर सभी को खिलाएं।और मास्क जरूर लगाएं ,हाथ धोना न भूलें।
  • बच्चे अपने कित्ताबो को और बैग को साफ़ कर सकते है
  • अपने कंप्यूटर टेबल और अलमीरा की साफ़ सफाई कर सकते हे
  • पुरुष व महिला अपने बालो को कलर कर सकते है
  • कुछ स्पेशल बुक्स पढ़ सकते हो

और बहुत कुछ आपके मन मे हो तो जरूर शेयर करें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.